Footprints Without Feet Summary in Hindi Class 10 pdf | Short & Long | From book Footprints Without Feet 

By | May 31, 2024
Footprints Without Feet Summary in Hindi Class 10 pdf edumantra.net

Footprints Without Feet Summary in Hindi

By H.G. Wells

ग्रिफिन एक प्रतिभाशाली वैज्ञानिक था उसने अनेक प्रयोग किये एक दिन उसने एक अदभुत औषधि का आविष्कार किया यह उसको अद्र्स्य बना सकती थी उसने यह औषधि ली और अदृस्य बन गया बह प्रत्येक व्यक्ति को देख सकता था लेकिन उसे कोई भी नहीं देख सकता था

ग्रिफिन का मकान मालिक उसे पसंद नहीं करता था उसने अपना मकान खाली करवाने का प्रयास किया ग्रिफिन क्रोधित हो गया उसने घर को आग लगा दी तब उसने औषधि ली उसने अपने वस्त्र उतारे बह अदृश्य हो गया और बाहर चला गया

सर्दी का मौसम था बिना वस्त्रो के घूमना आसान नहीं था ग्रिफिन के पास पैसे नहीं थे इसलिए बह लंदन के एक बढे स्टोर में घुस गया उसने बहां से वस्त्र चुराएं जब बह उन कपड़ो को पहन कर चला तो ऐसा लग रहा था जैसे कि कोई बिना सिर के आदमी चल रहा हो उसने स्टोर की रसोई में से मॉस , काफी , मिठाईया और शराब ली तब बह बहा गद्दो (रजाइयों ) के एक ढेर पर सो गया

Footprints Without Feet Summary in Hindi

अगली सुबह बह समय पर नहीं उठा दूकान के सहायक पहुंचे और उसे देखा ग्रिफिन डर के मारे बाहर भागा सहायक उसके पीछे भागे ग्रिफिन ने एक -एक करके अपने वस्त्र उतार दिए बह पुनः अदृश्य बन गया लेकिन इस बार बह ठंड के कारण काँप रहा था बह एक नाटकीय कंपनी की दुकान में घुस गया उसने अपने माथें पर पट्टियां बाँधी उसने काले चश्मे , एक नकली नाक और मूछें भी पहनी ग्रिफिन ने दुकानदार का कुछ धन लूटा तब उसने गाढ़ी पकड़ी और आइपिंग गाँव पहुंच गया

आइपिंग में ग्रिफिन ने एक सराय में दो कमरें बुक करवाय उसने किराया पेशगी दे दिया सराय की मालकिन का नाम श्री मति हॉल था उसने ग्रिफिन के विचित्र व्यवहार को सहन किया शीघ्र ही ग्रिफिन ने चुराया हुआ धन खर्च कर दिया उसने सराय कि मालकिन को बताया कि उसके पास नकद पैसे नहीं है उसने कहा कि बह किसी भी समय चैक के आने की प्रतीच्छा कर रहा है अगले दिन उसने पादरी के घर से धन चुराया पादरी और उसकी पत्नी हैरान थे उन्होंने किसी को भी आते हुए नहीं देखा था कमरा खाली था फिर भी धन चोरी हो गया था

कुछ समय पश्चात् मालिक और उसकी पत्नी ने पाया कि ग्रिफिन का कमरा खुला हुआ था उन्होंने कमरे में प्रवेश किया लेकिन बहां कोई भी नहीं था ग्रिफिन के कपड़े और पट्टियां फर्श पर बिखरे हुए थे अचानक ही टोप उछला और श्री मति हॉल के मुहं पर जा लगा  तब कुर्सी उछली और उस पर हमला कर दिया दम्पंती डर गए उन्होंने सोचा कि कमरे में भूत थे वे चिल्लाये और सीढ़ियों से नीचे भागे

बहां पड़ोसी एकत्रित हो गए उन्होंने सोचा कि इसके लिए ग्रिफिन जिम्मेदार था एक सिपाही को बुलाया गया उससे पहले ग्रिफिन और श्री मती हॉल में लड़ाई हुई ग्रिफिन क्रोधित हो गया उसने अपनी पट्टियां , चश्मे और नकली नाक उतारकर फेक दिए अब उसने वस्त्र पहन रखे थे लेकिन गर्दन से ऊपर उसका शरीर अदृश्य था लोग भयभीत हो गए जब उन्होंने एक बिना सिर बाले आदमी को देखा

तभी सिपाही आ गया जब उसने एक बिना सिर के आदमी को देखा तो बह भी हैरान हो गया उसने ग्रिफिन को पकड़ने का प्रयास किया लेकिन ग्रिफिन ने अपने वस्त्र उतारने शुरू कर दिए बह अदृश्य बन गया जिन्होंने उसे पकड़ने का प्रयास किया उन्हें हवा में से घूसे लगे शीघ्र ही ग्रिफिन स्वतत्र हो गया कोई भी नहीं जानता था कि उसे पकड़ने के लिए कहा हाथ डाला जाय ग्रिफिन सराय से बाहर निकला और उसने सड़क पर चलना आरम्भ कर दिया अब बह पुनः एक स्वतत्र आदमी था