NCERT Solutions for Class 9 Hindi Sparsh Chapter – 11 आदमी नामा

By | February 9, 2021

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitiz Chapter 11 आदमी नामा यहाँ सरल शब्दों में दिया जा रहा है|  NCERT Hindi book for class 9 Sparsh Solutions के Chapter 11 आदमी नामाको आसानी से समझ में आने के लिए हमने प्रश्नों के उत्तरों को इस प्रकार लिखा है की कम से कम शब्दों में अधिक से अधिक बात कही जा सके| इस पेज में आपको NCERT solutions for class 9 hindi Sparsh

दिया जा रहा है|

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Sparsh Chapter 11 आदमी नामा

रहीम के दोहे

प्रश्न अभ्यास

1.निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए

() पहले छंद में कवि की दृष्टि आदमी के किनकिन रूपों का बखान करती है? क्रम से लिखिए।

उत्तर:- पहले छंद में कवि की दृष्टि आदमी के निम्नलिखित रोगों का बखान करती है-

बादशाह, दरिद्र, भिखारी, दौलतमंद, कमजोर व्यक्ति, स्वादिष्ट भोजन करने वाला एवं दूसरों के टुकड़ों पर पलने वाला।

() चारों छंदों में कवि ने आदमी के सकारात्मक और नकारात्मक रूपों को परस्पर किनकिन रूपों में रखा है? अपने शब्दों में स्पष्ट कीजिए।

उत्तर:- चारों चंदू में कवि ने आदमी के निम्नलिखित सकारात्मक व नकारात्मक का वर्णन किया है:

व्यक्ति के सकारात्मक रूप- बादशाह, दौलतमंद, स्वादिष्ट भोजन करने वाला, कुरान और नमाज पढ़ने वाला, मस्जिद बनाने वाला, जान वारने वाला, जान बचाने वाला, वजीर, शरीफ, इज्ज़तदार, राजा, संत और दिल को लुभाने वाले कार्य करने वाला।

व्यक्ति के नकारात्मक रूप- दरिद्र, भिखारी, दूसरों के टुकड़ों पर पलने वाला, चोर, शोर को चुपचाप चोरी करते हुए देखने वाला, जान लेने वाला, दूसरों की इज्जत उछालने वाला और कमीना।

() ‘आदमी नामा’ शीर्षक कविता के इन अंशों को पढ़कर आपके मन में मनुष्य के प्रति क्या धारणा बनती है?

उत्तर:- आदमीनामा शीर्षक कविता के इन   अंशौ को पढ़कर मेरे मन मे मनुष्य के प्रति यह धारणा आती है कि  मनुष्य की अनेक परवर्ती हैं। कोई मनुष्य गरीब है तो कोई मनुष्य धनवान है,  कोई मनुष्य दूसरों को खुश करके खुश रहता है तो कोई मनुष्य दूसरों को अपमानित करके खुश रहता है,  अतः  मनुष्य भाग्य और परिस्थितियों का दास है।

() इस कविता का कौनसा भाग आपको सबसे अच्छा लगा और क्यों?

उत्तर:- इस कविता में मनुष्य के विभिन्न रूप दिखाए गए हैं। यही भाग बहुत अच्छा है –

दुनिया में बादशाह है सो है वह भी आदमी

और मुफ़लिस-ओ-गदा है सो है वो भी आदमी

ज़रदार बेनवा है सो है वो भी आदमी

निअमत जो खा रहा है वो भी आदमी

टुकड़े चबा रहा है सो है वो भी आदमी

() आदमी की प्रवृत्तियों का उल्लेख कीजिए।

उत्तर:- ‘आदमी नामा’ कविता के अनुसार मनुष्य की विभिन्न प्रवृतियां होती है। राजा और रंक, कमजोर व बलवान, नीच व इज्ज़तदार, संत व चोर, इज्जत देने वाला व इज्ज़त उतारने वाला, मारने वाला व बचाने वाला, दौलतमंद व दरिद्र, आदि सभी मनुष्य ही है, लेकिन इन सबमें बहुत अंतर है। हर मनुष्य की विचारधारा, नैतिक मूल्य और मान्यताएं अलग होती हैं और वह उन्हीं के आधार पर फैसले लेता है और अपना जीवन जीता है।

2.निम्नलिखित अंशों की व्याख्या कीजिए

() दुनिया में बादशाह है सो वह भी आदमी

और मुफ़लिसगदा सो है वो भी आदमी

उत्तर:- यही दुनिया कई तरह के लोगों से भड़ी पड़ी है। यहाँ कोई ठाठ -बाट से जी रहा है तो किसी के के पास कुछ भी नही है। दोनों की स्थितियों में बहुत बड़ा अंतर है।

() अशराफ़ और कमीने से ले शाह ता वो भी आदमी

ये आदमी ही करते हैं सब कारे दिलपजीर

उत्तर:– आदमीनामा कविता के इस अंश में कवि कहना चाहते हैं कि दुनिया में हर अच्छा और बुरा काम आदमी ही करता है। हर शरीफ, कमीना, राजा-रंक आदमी ही तो है। कोई दिल दुखाता है, तो कोई दिल को खुश कर देता है। इस तरह दुनिया में कई तरह के मनुष्य रहते हैं।

इस पेज में आपको NCERT solutions for class 9 hindi Sparsh दिया जा रहा है| हिंदी स्पर्श के दो भाग हैं | Hindi Sparsh स्पर्श भाग 1 सीबीएसई बोर्ड द्वारा class 9th के लिए निर्धारित किया गया है | इस पेज की खासियत ये है कि आप यहाँ पर ncert solutions for class 9 hindi Sparsh pdf download भी कर सकते हैं| we expect that the given class 9 hindi Sparsh solution will be immensely useful to you.

3.निम्नलिखित में अभिव्यक्त व्यंग को स्पष्ट कीजिए

() पढ़ते है आदमी ही कुरआन और नमाज़ यां

और आदमी ही उनकी चुराते हैं जूतियाँ

जो उनको ताड़ता है सो वो भी आदमी

उत्तर:- इन पंक्तियों में व्यंग्य यह है कि हर आदमी के स्वभाव और रुचि में अंतर होता है। वह अच्छा बनने पर आए तो कुरआन पढ़ने वाला और नमाज अदा करने वाला सच्चा धार्मिक मनुष्य भी बन सकता है। यदि वह दुष्टता पर आ जाए तो ऐसे पवित्र धार्मिक लोगों की जूतियाँ चुराने का काम भी कर सकता है। कुछ लोग बुराई पर नज़र रखने में रुचि लेते हैं। इस प्रकार अपने-अपने स्वभाव के अनुसार सबके कार्य भिन्न हो जाते हैं

() पगड़ी भी आदमी को उतारे है आदमी

चिल्ला के आदमी को पुकारे है आदमी

और सुनके दौड़ता है सो वो भी आदमी

उत्तर:- इन पंक्तियों में कवि ने स्वभाव के अनुरूप विभिन्न प्रकार के मनुष्य का वर्णन किया है। इन पंक्तियों में कवि ने कहा है कि कुछ लोगों को दूसरों की इज्जत खराब करके व उनको दुःख देकर खुश होते हैं और कुछ लोग दूसरों का सम्मान करके खुशी महसूस करते हैं। अपराधी और रक्षक दोनों मनुष्य ही होते हैं।

4.नीचे लिखे शब्दों का उच्चारण कीजिए और समझिए कि किस प्रकार नुक्ते के कारण उनमें अर्थ परिवर्तन आ गया है।

राज़(रहस्य), राज(शासन), ज़रा(थोड़ा), जरा(बुढ़ापा), फ़न(कौशल), फन(साँप का मुँह), फ़लक(आकाश), फलक(लकड़ी का तख्ता)

ज़ फ़ से युक्त दोदो शब्दों को और लिखिए।

उत्तर:- ज़ से युक्त शब्द: मज़दूर, बाज़, ज़हर, ज़मीन।

फ़ से युक्त शब्द: रफ़्तार, फ़रक।

5.निम्नलिखित मुहावरों का वाक्यों में प्रयोग कीजिए –

टुकडे चबाना, पगड़ी उतारना, मुरीद होना, जान वारना, तेग मारना

उत्तर:- (). टुकडे चबाना : मैंने वह गरीबी भी भोगी है जब मुझे जैसे-तैसे टुकड़े चबाकर जीना पड़ा।

(). पगड़ी उतारना: ठाकुर दास ने भरी पंचायत में मोहनदास की पगड़ी उतारने में कोई कसर न छोड़ी।

(). मुरीद होना: अनीता  गीतकार हरिहरन की मुरीद है।

(). जान वारना:हनुमान श्रीराम पर जान वारते थे।

(.). तेग मारना: ज्यादातर पड़ोसियों की दूसरों पर तेग मारने की आदत होती है।

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Sparsh Chapter 11 आदमी नामा  Download in PDF

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.