Mother’s Day- Summary in Hindi – Full Text

By | July 4, 2020

Mother’s Day is one of the best tree poems in English and this tree solutions are well provided by Edumantra including Introduction, Message, Theme, Title, Characters, Summary in English, Summary in Hindi, Word meanings, Complete lesson in Hindi, Extracts , Long answers, Short answers, Very short Answers, MCQs and much more.

  Mother’s Day

                                                                        By- J.B. Priestley

Summary in Hindi/ Mother’s Day

Summary in Hindi

इस एकांकी नाटक में कुल चार प्रमुख पात्र हैं – Mrs.Annie Pearson उसके पति George, उनका बेटा Cyril,उनकी बेटी Doris तथा उनकी पड़ोसिन Mrs.Fitzgerald. यह घटना Mrs.Pearson की बैठक में होती है; घर लंदन के उपनगर में बना है I दोपहर के बाद का समय है I

Mrs.Pearson तथा Mrs. Fitzgerald पड़ोसिन हैं I Mrs. Pearson एक अच्छे स्वभाव वाली पर कुछ चिन्ताग्रस्त 40 वर्ष से अधिक आयु की महिला हैं I वह दब्बू स्वभाव की हैं I उसे अपने बच्चों से बहुत प्यार है यद्यपि वे उसे एक घरेलू नौकरानी ही मानते हैं I Mrs. Fitzgerald कुछ अधिक आयु की, भारी बदन तथा पुष्ट महिला है I वह भविष्यवक्ता भी है I उसने यह ज्योतिष विद्या किसी एशियाई देश में सीखी थी I उसने 12 वर्ष वहाँ बिताए थे I वह धूम्रपान करती है, मदिरा पीती है तथा ताश खेलती है I   

दोनों महिलाएँ साथ बैठी दिखाई देती है जैसे पर्दा ऊपर उठता है I यह घर है Mrs.Pearson का I वह अपनी पड़ोसन को अपनी राम कहानी सुनाती है I बच्चे Doris तथा Cyril व्यस्क हो गए हैं पर दोनों ही आत्म केंद्रित तथा विचारहीन हैं I वे किसी दफ्तर में काम करते हैं पर घर लौटते ही उन्हें बाहर जाकर मौज मस्ती करने की हड़बड़ी रहती है I वे चाय माँगते हैं तथा अन्य सेवाओं की भी माँग करते हैं जैसे वस्त्रों पर प्रेस करना I कमजोर स्नेहात्मक माँ के मन को चोट लगती है पर उसके अन्दर अपनी बात कहने का साहस नहीं है I उसके पति भी उसके प्रति संवेदनशील नहीं है I 
Mrs. Fitzgerald रोबदार औरत है जो जीवन अपने तरीके से जीना चाहती है I वह Mrs.Pearson को भी सलाह देती है कि बलवान बनो तथा परिवार की बॉस बनो I वह कहती है तुम्हें अपने बच्चों तथा पति के पीछे भागने और उनका आदेश पालन करने की जरूरत नहीं I ऐसी सेवा उन पर बुरा असर डालेगी I पति, बेटे तथा बेटियों को चाहिए कि वे अपनी पत्नियों तथा माँ की ओर ध्यान दें; उन्हें कूड़ा करकट न समझें I पर Mrs.Pearson घर में कटुता का वातावरण नहीं पसंद करती I वह कोई भी निर्णायक कदम नहीं ले सकती I वह  अपनी पड़ोसन से सहमत हैं, पर वह अपने परिवार को सुधारने का वायदा नहीं कर सकती I

Mrs.Fitzgerald सुझाव देती है कि मैं पूरे परिवार को सबक सिखा दूँगी तथा उन्हें उनकी औकात बता दूँगी I उसके पास एक योजना थी कि वह Mrs.Pearson से व्यक्तित्व को अदल-बदल ले I वह Mrs.Pearson के हाथों को अपने हाथ में लेकर कुछ शब्दों का मंत्रोंच्चारण करती है—अस्तत्तादम-अर्सतत्ता लम I वह दोनों शिथिल  पड़ जाती है पर शीघ्र ही उनमें जान आ जाती है और उनका व्यक्तित्व बदल जाता है I अब mrs. Pearson साहसिक तथा रोबदार बन जाती हैं तथा Mrs.Fitzgerald घबरा जाती हैं I वह देखती हैं कि उसका शरीर बदल गया है और वह चीख मारती है I Mrs.Pearson जिसके अंदर Mrs.Fitzgerald का व्यक्तित्व समा गया है, अपने परिवार को दुरुस्त करने के लिए तैयार हो जाती है I  पर असली Mrs.Pearson को आश्वस्त कर दिया जाता है कि दोनों का व्यक्तित्व बदलाव भी आसानी से हो जाएगा I अब नई Mrs.Fitzgerald को कहा जाता है कि वह अभी घर लौट जाए और कुछ समय पश्चात आए I

Mrs. Pearson अपने नए अवतार या रूप में, सिगरेट पीती है तथा मेज पर ताश का खेल खेलने हेतु पत्ते बिछा देती है I

Doris जो बीस वर्ष से ऊपर की सुन्दर युवती है, कमरे में तेजी से प्रवेश करती है I वह बिगड़ी हुई बच्ची है I वह माँ से दो चीजें माँगती है–अपनी पीली पोशाक पर प्रेस तथा एक कप चाय I उसे माँ को धूम्रपान करते देख कर हैरानी हो जाती है उसे यह सुनकर दूसरी ठेस लगती है कि चाय तैयार नहीं की गई है I वह अपने लड़के मित्र Charlie Spence के साथ घूमने जाने की हड़बड़ी में है I माँ उसकी पोशाक पर प्रेस करने से इन्कार कर देती है I वह तो Charlie Spence की भी आलोचना करती है I वह पीली पोशाक की भी भर्त्सना करती है I वह कहती है कि Charlie तो बड़े बाहर निकले दाँत वाला और मंदबुद्धि व्यक्ति है I Doris रो देती है और बाहर निकल जाती है I

एक क्षण पश्चात Cyril प्रवेश करता है I वह भी चाय माँगता है I वह नाराज हो जाता है जब माँ इन्कार कर देती है I वह यह सुनकर हताश हो जाता है कि उसकी वस्त्रों को न तो बाहर निकाला गया है, न ही उनकी मरम्मत की गई है I  वह सोचता है कि शायद माँ की तबीयत ठीक नहीं है I वह हैरान है कि मैं अब कोई भी काम क्यों नहीं करना चाहती तथा कठोरतापूर्वक उत्तर देती है I माँ बताती है कि उसे भी अपनी दिनचर्या से सप्ताह में एक दिन छुट्टी मिलनी चाहिए I

Doris कमरे में प्रवेश करती है I उसने अब एक शॉल लपेटा हुआ है I माँ कहती है कि तुम बहुत बुरी दिख रही हो I Doris माँ को दोष देती है कि तुम्हीं ने मुझे रूला दिया है I फिर माँ मदिरा पीने की इच्छा व्यक्त करती है I भाई-बहन फुसफुसाहट के साथ बातें करने लगते हैं I  Doris बताती है कि माँ सिगरेट पी रही थी और ताश खेल रही थी I वह बिल्कुल बदल गई है शायद उसका सिर कहीं टकरा गया है I अथवा वह झक्की हो गई है I दोनों  ही उत्साहपूर्वक डैड के आने की प्रतीक्षा करते हैं I मां उन्हें मूर्खतापूर्ण तथा ठहाके लगाकर हँसने पर फटकारती है I बच्चों की आंखों में पुनः आँसू आ जाते हैं I  वे माँ से पूछते हैं आखिर हमारे प्रति आप इतनी कठोर क्यों हो गई हो I माँ उत्तर देती है कि मैं भी रोज आठ घंटे से अधिक काम करती हूँ I मेरी इस सेवा के प्रति कोई आभार प्रदर्शन भी नहीं करता I मैं अब शाम का भोजन करने के लिए Clarendon जाऊँगी I मुझे भी परिवर्तन चाहिए I और मैं इतनी बड़ी हो चुकी हूँ कि मैं अपनी देखरेख स्वयं कर सकती हूँ I वह नाराज हो जाती है जब Doris प्रश्न करती है कि क्या आप कहीं गिर गई थी अथवा किसी चीज से टकरा गई थी I  माँ उन्हें चेतावनी देती है कि बकवास मत करो I

George Pearson घर लौटते हैं I वह कोई पचास वर्ष के भारी बदन तथा आडम्बरी व्यक्ति हैं I  वे Doris की आँखों में आँसू देखते हैं I वे जानना चाहते हैं कि Doris रो क्यों रही है I तभी उनकी आँखें फटी रह जाती है जब वे पत्नी को मदिरापान करते दिखते हैं I  उन्हें बेसमय मदिरापान ठीक नहीं लगता I वे कहते हैं कि आज मैं चाय नहीं पिऊँगा क्योंकि मुझे क्लब में स्नूकर मैच देखने जाना है और वहीँ रात्रि भोज भी कर लूँगा I पर उन्हें हैरानी होती है कि घर में चाय तैयार क्यों नहीं है I Annie करारा जबाब देती है I  चुनौती देती है कि आप अपनी बातें जरा क्लब में तो मनवाने की कोशिश करें I जहाँ लोग आपका मजाक उड़ाते हैं I वे आपको पाँपी-आँपी Pearson कहते हैं क्योंकि आप मंद गति से चलने वाले आडम्बर पसंद व्यक्ति हैं I पत्नी उन पर आरोप लगाती है कि आप मेरी उपेक्षा करते हैं I Cyril इस बात की पुष्टि कर देता है कि क्लब के सदस्य डैड को पाँपी-आँपी उनकी पीठ पीछे कहते हैं I George को ऐसी ठेस लगती है कि वे बाहर चले जाते हैं I

Cyril माँ को कहता है कि आपको डैड की भावनाओं को चोट नहीं पहुँचानी चाहिए थी I पर माँ तर्क देती है कि लोगों की भावनाओं को कभी-कभी चोट लगने से उन्हें लाभ मिलता है I वह सुझाव देती है कि George को इतना अधिक क्लब नहीं जाना चाहिए जहाँ उनकी खिल्ली उड़ाई जाती है I

दरवाजे पर खटखट होती है I Cyril दरवाजा खोलता है तथा बताता है कि उनकी बूढ़ी मूर्ख पड़ोसन आई है I Mrs.Pearson उसे डाटती है कि Mrs.Fitzgerald के प्रति अपशब्दों का प्रयोग क्यों करते हो Mrs.Pearson अपनी पड़ोसन का गर्म-जोशी से स्वागत करती है I पड़ोसन जिसका व्यक्तित्व बदला हुआ है वास्तव में Mrs.Pearson है I  वह जानने को आतुर है कि उसके घर में क्या हो रहा है I Cyril शिकायत करता है तथा चीखकर बोलता है I माँ उसे कठोरता पूर्वक डाटती है कि चुप रहो I  वह अपनी पड़ोसन को यह भी बताती है कि मुझे अपने परिवार को अपने तरीके से सुधारने दो I वह बताती है कि George को तथा दोनों बच्चों को उनकी औकात दिखा रही हूँ I ऐसा कठोर व्यवहार उन्हें नेक बना देगा I

George कमरे में प्रवेश करते हैं I उन्हें आगन्तुक महिला को देखकर आश्चर्य होता है I पड़ोसन उन्हें उनके नाम से पहले शब्द ‘George’ कहकर संबोधित करती है I George  रुष्ट हो जाते हैं पर Annie को इसमें कोई आपत्तिजनक बात नहीं दिखाई देती I George शिकायत करते हैं कि घर में चाय भी नहीं बनी; Doris ऊपर रो रही है तथा Mrs.Fitzgerald उन्हें उनके नाम से संबोधित कर रही है I वे पड़ोसिन को कहते हैं कि हमें अकेला छोड़ दीजिए पर उनकी पत्नी उन्हें आड़े हाथों लेती है कि तुम्हें सलीका नहीं आता I वह उनसे कहती है कि आप क्लब क्यों नहीं चले जाते I George गरजते हैं कि तुम तो झक्की या सनकी हो गई हो I Mrs.Pearson उनके बड़े, स्थूल तथा मूर्खतापूर्ण चेहरे पर थप्पड़ मारने की धमकी देती है I

George इन दोनों महिलाओं को हक्का-बक्का होकर देखता है उसे समझ में नहीं आता कि पड़ोसन उसकी पत्नी को Mrs.Fitzgerald क्यों कह रही है I वह टिप्पणी करता है कि मेरी पत्नी को थोड़ा सा नशा हो गया है I वह उदास और अवाक् हो जाता है I

Doris कमरे में धीरे से प्रवेश करती है I पड़ोसिन उससे पूछती है कि आज तो तुम्हें Chalie के साथ बाहर जाना था I Doris नाराज हो जाती है I वह रोषपूर्वक पूछती है कि आपको मेरे व्यक्तिगत जीवन में इतनी दिलचस्पी क्यों है फिर बताती है कि बाहर जाने की योजना खत्म कर दी है क्योंकि मेरी माँ ने मुझे दुखी कर दिया है, माँ George तथा बच्चों को कहती है कि थोड़े समय के लिए बाहर चले जाओ तथा दोनों सहेलियों को कुछ निजी बातें करने दो I वह उन्हें आश्वस्त करती है कि बातचीत का परिणाम उन सभी के लिए सुखद होगा I

पड़ोसिन (Mrs.Fitzgerald जिसके अंदर Mrs.Pearson का व्यक्तित्व प्रवेश कर गया है) वह हठ करती है कि पुनः अदला-बदली कर लो I उससे सहन नहीं होता कि परिवार के सदस्यों के साथ ऐसा कठोर व्यवहार और अधिक किया जाए I  Mrs.Fitzerald तैयार हो जाती है वह उन्हीं मंत्रों वाले शब्दों को दोहराती है तथा दोनों अपने -अपने रूप में आ जाती हैं I Mrs.Fitzgerald अपनी पड़ोसन को कहती है कि अब अपने परिवार वालों के साथ नर्मी मत दिखाना अन्यथा उनका सारा परिश्रम व्यर्थ चला जाएगा I दूसरी बात, तुम इस छोटे से नाटक की कोई सफाई अथवा खेद व्यक्त करना I सख्ती का स्वर ही काम बना देगा I वह Mrs.Pearson से पूछती है कि तुम अपने पति एवं बच्चों से क्या अपेक्षा करती हो ?

Mrs. Pearson अपनी माँगों की सूची देती है I ये लोग कभी-कभी घर पर रुक जाएँ,उसे भोजन पकाने तथा परोसने में मदद करें तथा रमी की एक बाजी खेल लें I वह Mrs.Fitzgerald की सलाह पर अमल तथा अपने परिवार के साथ सख्ती बरतने का वचन देती है I

George,Doris तथा Cyril कमरे में प्रवेश करते हैं तथा Mrs.Pearson की ओर से चिन्तातुर होकर देखते हैं I माँ मुस्कुरा देती है तथा वे तीनों भी मुस्कुरा देते हैं I अब माँ अपनी योजना बताती है I वह चाहती है कि आज एक गेम रमी का हो जाए I बच्चे भोजन पकाएंगे जबकि वह स्वयं George से कुछ बातें करेगी I सभी उसकी बातें मान लेते है I वह अंत में पड़ोसन का आभार व्यक्त करती है तथा उसे अलविदा कहती है I जैसे ही Mrs.Fitzgerald घर से बाहर निकलती है, सारा परिवार Mrs.Pearson को घेर कर बैठ जाता है I

Want to Read More Check Below:-

Mother’s Day- Introduction

Mother’s Day- Important Word-Meanings of difficult words

Mother’s Day- Short & Detailed Summary

Mother’s Day- Important Extra Questions Short Answer Type

Mother’s Day- Important Extra Questions Long Answer Type

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.