The Sermon at Benares- Summary in Hindi – Full Text

By | August 20, 2020

Find all the study material of The Sermon at Benares. Edumantra has tied to give extra questions of The Sermon at Benares through Introduction of The Sermon at Benares, Message, Theme, Title, Characters from the lesson The Sermon at Benares, The Sermon at Benares Summary in English, Summary in Hindi, Word meanings of the chapter The Sermon at Benares, Complete lesson in Hindi, Extracts , Long answers, Short answers, Very short Answers, MCQs in the lesson The Sermon at Benares and much more.

The Sermon at Benares

By Betty Crenshaw

Summary in Hindi – The Sermon at Benares- Full Text

SUMMARY IN HINDI

गौतम बुद्ध का जन्म 563 ई०पू० में हुआ था। उसका जन्म एक शाही परिवार में हुआ था । वह एक राजकुमार था ।उसका नाम सिद्धार्थ गौतम था । बारह साल की उम्र में उसे स्कूली शिक्षा के लिए भेजा गया ।उसने सारे पवित्र हिन्दू धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन किया । वह चार वर्ष बाद लौटा । सोलह साल की उम्र में उसकी शादी एक राजकुमारी से हुई । उनका एक बेटा हुआ । दस साल तक इस युगल ने बड़ा प्रसन्नतापूर्वक जीवन व्यतीत किया । सिद्धार्थ को अब तक संसार के दुःखों से दूर रखा गया था । मगर हब वह पच्चीस साल का था तो  सिद्धार्थ ने एक बीमार व्यक्ति देखा, फिर एक बूढा व्यक्ति देखा और फिर उसने एक शय-यात्रा

देखी । अंत में , एक भिक्षु को देखा जो भीख माँग रहा था  यह उसका जीवन की वास्तविकताओं से पहला साक्षात्कार था । इन द्रश्यों ने उसे उदास कर दिया कि उसने सांसारिक सुखों को त्याग देने का प्रण कर लिया । उसने अपने परिवार को छोड़ दिया और भिक्षु बन गया । वह संसार में आध्यात्मिक ज्ञान की खोज में  निकल पड़ा ।

सिद्धार्थ गौतम सात साल तक ज्ञान और सच्चाई की खोज में भटकता रहा । अंतमें वह मनन करने के लिए एक वट वृक्ष के नीचे बैठ गया । उसने प्रण किया कि वह वहाँ पर तब बैठा रहेगा जब तक उसे ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो जाती । सात दिन के बाद उसे आध्यात्मिक ज्ञान मिलता । उसने उस वृक्ष का नाम ‘बोधि वृक्ष’ रख दिया अर्थात् ‘ज्ञान का वृक्ष’ । उसे लोग ‘बुद्ध’ के नाम से जानने लगे अर्थात  “ज्ञान वाला” अथवा “जागृत” । उसने शिक्षा देना और ज्ञान और सच का संदेश फैलाना आरंभ कर दिया ।

बुद्ध ने अपना पहला उपदेश बनारस में दिया । यह गंगा कै तट पर सबसे पवित्र स्थान है । उसका पहला उपदेश रहस्यमयी कष्ट अर्थात् मृत्यु के बारे में उसके झान को दर्शाता है । इसमें बुद्ध मृत्यु की सार्वभौमिकता के बारे में बताता है जोकि अटल है और उससे जा सकता।

किसा गौतमी नाम की एक स्त्री का एक मात्र बेटा था । एक दिन उसके बेटे की मृत्यु हो गई । वह चाहती थी कि उसका बेटा फिर से जीवित हो जाए । वह चाहती थी कि कोई ऐसी औषधि मिल जाए जो उसके बेटे को जीवित कर दे। लोगों ने उसे पागल कहा । आखिर उसे एक आदमी मिला । उसने उसे सलाह दी कि वह बुद्ध से मिले । वह बुद्ध के पास गई और उससे प्रार्थना की कि वह उसे कोई औषधि दे ताकि उसका बेटा फिर से जी उठे । काफी गहरे विचार के बाद बुद्ध ने उसे कहा कि वह एक मुठ्ठी भर सरसों के बीज ले आए अंगार एक शर्त थी । उए सरसों उस घर से लानी थी जहाँ कोई भी व्यक्ति नहीं मरा था । किसा गौतमी सरसों लाने कि लिए घर –घर गई । उसे सरसों उस घर से लानी थी जहाँ कोई व्यक्ति नहीं मरा था । मगर ऐसा कोई घर नहीं मिला जहाँ कभी किसी की मृत्यु नहीं हुई हो । शाम तक , वह उदास हो गई और थक गई । उसने शहर की रोशनियाँ देखीं । शीघ्र हीरात का अंधेरा हो गया । अब उसने मनुष्य के भाग्य के बारे में सोचा । अब उसने महसूस क्रिया कि मौत अवश्यम्भावी है । हमसे कोई भी नहीं बच सकता ।

वह बुद्ध के पास लौट आई और उससे आशीर्वाद माँगा । अपने उपदेश में बुद्ध ने उसे बताया क्रि हमारा जीवन संक्षिप्त और कष्टपूर्ण हैं। हर प्राणी जो जन्म लेता है,  मरता है । कुम्हार द्धारा बनाया गया बर्तन स्थायी नहीं हैं । एक दिन इसे टूट जाना है । इसी प्रकार  हर व्यक्ति को मरना है । मौत किसी को नहीं छोड़ती । कोई पिता अपने बच्चे को नहीं बचा सकता । जबकोई प्रिय मरता है । तो हर व्यक्ति रोता है  मगर रोने से मरा हुआ व्यक्ति वापस नहीं आ जाता । इसलिए मौत और कष्ट अटल हैं । अक्लमंद व्यक्ति

अफ़सोस नहीं करते क्योंकि सच को जानते है । रोने से मन को शांति नहीं मिलती । इसके विपरीत विलाप करने से व्यक्ति की पीड़ा बढ़ जाती है । उसके शरीर को भी कष्ट होता है । वह व्यक्ति जिसने अपने दुख पर काबू पाना सीख लिया है, उसे मन की शांति मिलती है । जिसने अपने दुःख पर काबू पा लिया है, उस आशीर्वाद मिलता है ।

Want to Read More Check Below:-

The Sermon at Benares- About the Author & Introduction

The Sermon at Benares- Theme of the Story

The Sermon at Benares- Important Word-Meanings of difficult words

The Sermon at Benares- Short & Detailed Summary

The Sermon at Benares- Value Points

The Sermon at Benares- Passages for Comprehension

The Sermon at Benares- Multiple Choice Questions in Quiz

The Sermon at Benares- Main Characters of the Story

The Sermon at Benares- Extract Based comprehension test Questions

The Sermon at Benares- Important Extra Questions- Very Short Answer Type

The Sermon at Benares- Important Extra Questions- Short Answer Type

The Sermon at Benares- Important Extra Questions- Long Answer Type

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.