Discovering Tut: the Saga continues- Summary in Hindi – Full Text

By | July 1, 2020

Discovering Tut: The Saga Continues is well explained through Introduction, Message, Theme, Title, Characters, Fire and Ice Summary in English, Summary in Hindi, Fire and Ice lyrics, Fire and Ice quiz, Word meanings, Complete lesson in Hindi, Extracts , Long answers, Short answers, Very short Answers, MCQs and much more for free.

           Discover ing Tut: the Saga continues

                                             By- A.R. Williams

Summary in Hindi

Tut अथवा Tutankhamun मिस्त्र के शाही परिवार का किशोर उत्तराधिकारी था I इस परिवार ने मिस्त्र पर सदियों तक शासन किया थाIपर Tut की मृत्यु छोटी आयु में ही हो गईI उसने केवल 9 वर्ष शासन किया वह अपने वंश का अंतिम व्यक्ति था Iउसकी अंत्येष्टि क्रिया नेएक राजवंश का अंत कर दिया Iपर उसकी मृत्यु किस प्रकार से हुई, यह एक अनबूझी पहेली बनी हुई हैI

Tut का पिता अथवा दादा Amenhotep III एक बलशाली शासक था जिसने लगभग 40 वर्षों तक शासन किया Iउसका बेटा गद्दी पर बैठाI नये राजा ने आतेन की पूजा को बढ़ावा दिया,आतेन जो सूर्य देवता माने जाते थेI उसने अपना नाम ही बदलकरAkhenaten,सूर्य देवता कर रख लिया Iवह अपनी धार्मिक राजधानी भी Thebes के पुराने नगर से आगे नए नगर Amarna में ले गया Iउसने लोगों को भारी चोट पहुँचाई I जब उसने एक बड़े देवता Amun पर कटाक्ष किए, उसकी मूर्तियाँ तोड़ दी तथा उसके मन्दिर भी बंद कर दिए Iउसके पश्चात एक अन्य अज्ञात शासक आया जिसकी मृत्यु भी शीघ्र हो गई Iफिर सिंहासनारूढ़ हुआ युवा Tutankhaten, उसी को आज Tut के नाम से जाना जाता हैIउसने पुरानी परम्परां को पुनर्जीवित कर दिया,Amun देवता की पूजा कीI उसने अपना नाम भी बदलकर Tutankhamun रख लिया I उसने कोई 9 वर्षों तक शासन किया और फिर अचानक गुजर गयाI

मिस्र में अनेक ममी पाई गई है, लगभग 600 Iये मिस्त्र के राजाओं की रसायनों की लेप द्वारा सुरक्षित रखे गए शव है, इन्हें उन दिनों Pharaoh कहा जाता था ITut का शव1922 में खोजा गयाI शायद उसकी हत्या कर दी गई थी Iपर उसे ढेर-सा स्वर्णतथा दैनिक काम की चीजें जैसे खेल खिलौने,काँसे का रेज़र ,वस्त्र तथा  भोजन

एवं मदिरा की पेटियों के साथ समाधिस्थ किया गया थाI ऐसी मान्यता की मृतक राजाओं को दूसरे जीवन में इन चीजों की जरूरत पड़ेगीI

Howard Carter ने जो एक अंग्रेज पुरातत्ववेत्ता था,1922 में Tut की समाधि को खोज निकाला Iसमाधि में रखे गए बहुत से खजाने को लोग पहले ही लूट ले गए थे Iफिर भी वह किसी की समाधि में अब तक पाए गए घनागार से अधिक थी Iचट्टान काटकर 26 फुट नीचे समाधि बनाई गई थी I उसकी दीवारों पर चित्र बनेथे ITut का सोने का नकली चेहरा ताबूत के बाहर ढक्कन पर बना हुआ था महीनों उस खजाने की सूची तैयार करने में लग गएI फिर Carter ने तीन ताबूतों की जाँच शुरू की Iपहले के अंदर उसे जैतून की पत्तियाँ कमल की पँखुड़ियाँ तथा मक्की के फूल मिले I शायद Tut को मार्च – अप्रैल में दफनाया गया थाI

जब Carter अंततः Tut के शव तक पहुँचे , उन्हें एक समस्या का सामना करना पड़ाI जिस राल से Tutके शव को ठोस सोने से बनी ताबूत में चिपकाया गया था वह बहुत सख्त हो गया थाIशव को उस राल से अलग कर पाना असंभव सा दिखा Iतपती धूप में भी वह राल पिघला नहींI उसे तो छेनी, हथौड़े से छील-छील कर अलग किया गयाIतब कहीं Tut के शव को छुड़ाया गया I Carter के सामने कोई दूसरा चारा भी ना था Iयदि वह शव को एक-एक अवयव काट कर न निकालते तो चोर सारा सोना ही लूट ले गए होते ICarter के कर्मचारियों ने शव का सिर अलग किया I उसके हर जोड़ को काट-काट कर अलग कियाIएक बार फिर शव के टुकड़ों को पुनः जोड़ा गया Iएक लकड़ी के ताबूत में नीचे रेत बिछाकर उन टुकड़ों से पूर्ववत शव का आकार बना दियाI

Tut के निधन का रहस्य पहेली बना रहा Iपुरातत्व विज्ञान 1922 के बाद बहुत परिवर्तित हो गया हैI1968 में शरीर रचना विज्ञान की एक प्रोफेसर ने ममी का एक्स-रे किया तथा एक नया तथ्य उजागर कियाI उसने बताया कि शव की हड्डी तथा सामने की पसलियाँ गायब हैI

आज C.T. सैकड़ों एक्स –रे लेकर शरीर का त्रि-आयामी आकार तैयार कर देती हैI5 जनवरी 2005 कोविश्व की सुप्रसिद्ध Tut ममी की C.T. द्वारा जाँच की गई ताकि दो प्रश्नों के उत्तर मिल जाए-Tut की मृत्यु किस प्रकार से हुई और मृत्यु के समय उसकी आयु क्या थीI
C.T. मशीन तो उसकी निर्माता Siemens के द्वारा प्रदान की गई थी Iराजा Tut की मृत्यु कोई 3,300 वर्ष पूर्व हुई थीI स्केन की रात को कर्मी Tut के शव को समाधि से लकड़ी के ताबूत समेत बाहर निकाल लाएIउन्होंने उसे एक ट्रेलर में रख दिया जिस पर स्केन यंत्र रखा था Iइस प्रक्रिया में 3 घंटे से कम समय लगा Iराजा को वापिस समाधिस्थल में पहुँचा दिया गयाI इस जाँच ने सारे शक दूर कर दिएIशव में कोई गंभीर चोट वाली बात नहीं मिली ITut अपनी समाधि में मिस्श्र के दिवंगत शासको को जहाँ दफनाया जाता था, उस घाटी में सुरक्षित विश्राम कर रहे हैंI

Want to Read More Check Below:-

Discovering Tut: the Saga continues- Introduction

Discovering Tut: the Saga continues- Important Word-Meanings of difficult words

Discovering Tut: the Saga continues- Short & Detailed Summary

Discovering Tut: the Saga continues- Important Extra Questions Short Answer Type

Discovering Tut: the Saga continues- Important Extra Questions Long Answer Type

Discovering Tut: the Saga continues- Important Extra Questions Value-Based Answer Type

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.