NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika Chapter – 4 माटीवाली

By | February 10, 2021

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitiz Chapter 4 माटीवाली यहाँ सरल शब्दों में दिया जा रहा है|  NCERT Hindi book for class 9 Kritika Solutions के Chapter 4 माटीवाली  को आसानी से समझ में आने के लिए हमने प्रश्नों के उत्तरों को इस प्रकार लिखा है की कम से कम शब्दों में अधिक से अधिक बात कही जा सके| इस पेज में आपको NCERT solutions for class 9 hindi Kritika

दिया जा रहा है|

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika Chapter 4 माटीवाली

vidya sagar nautiyal

प्रश्नअभ्यास

1.‘शहरवासी सिर्फ़ माटी वाली को नहीं, उसके कंटर को भी अच्छी तरह पहचानते हैं।’ आपकी समझ से वे कौन से कारण रहे होंगे जिनके रहते ‘माटी वाली’ को सब पहचानते थे?

शहरवासी सिर्फ़ माटी वाली

उत्तर:- पूरे शहर में माटी वाली एकमात्र माटी देने वाली औरत थी जो घर जाकर माटी दे आती थी। चूंकि पूरे गाँव में कोई माटीखाना नहीं था इसलिए वह ही माटी का एक मात्र साधन थी। लोगों के पास इतना वक्त नहीं था कि वो स्वयं जाकर माटी ले आएँ। घर-घर में माटी से घर व चूल्हें लीपे जाते थे। लोगों को इस कारण भी माटी की आवश्यकता थी। माटी वाली का कोई प्रतिद्वंदी नहीं था। सालों से वो माटी देती आ रही थी जिस कारण उस शहर का बच्चा-बच्चा तक उसको व उसके कंटर को पहचान लेता था।

2. माटी वाली के पास अपने अच्छे या बुरे के बारे में ज्यादा सोचने का समय क्यों नहीं था?

उत्तर:- माटीवाली अपनी आर्थिक और पारिवारिक उलझनों में उलझी, निम्न स्तर का जीवन जीने वाली महिला थी। अपना तथा बुड्ढे का पेट पालना ही उसके सामने सबसे बड़ी समस्या थी। सुबह उठकर माटाखाना जाना और दिनभर उस मिट्टी को बेचना इसी काम में उसका सारा समय बीत जाता था। अपनी इसी दिनचर्या को वह नियति मानकर चले जा रही थी। ऐसे में माटीवाली के पास अच्छे और बुरे भाग्य के बारे में सोचने का समय नहीं था।

3. ‘भूख मीठी कि भोजन मीठा’ से क्या अभिप्राय है?

भूख मीठी कि भोजन मीठा’

उत्तर:- इस बात का आशय है जब मनुष्य भूखा होता है तो उस भूख के कारण उसे बासी रोटी भी मीठी लगती है। यदि मनुष्य को भूख न हो तो उसे कुछ भी स्वादिष्ट भोजन या खाने की वस्तु दे दी जाए तो वह उसमें नुक्स निकाल ही देता है। परन्तु भूख लगने पर साधारण खाना या बासी खाना भी उसे स्वादिष्ट व मीठा लगेगा। इसलिए बुजुर्गों ने कहा है – भूख मीठी की भोजन मीठा। अर्थात् भूख स्वयं में ही मिठास होती है जो भोजन में भी मिठास उत्पन्न कर देती है।

4. ‘पुरखों की गाढ़ी कमाई से हासिल की गई चीज़ों को हराम के भाव पर बेचने का मेरा दिल गवाही नहीं देता।’ –मालकिन के इस कथन के आलोक में विरासत के बारे में अपने विचार व्यक्त कीजिए।

उत्तर: – इसमें मालकिन द्वारा अपने पुरखों की मेहनत के प्रति आदर व सम्मान का भाव व्यक्त किया गया है। वह अपने पुरखों की परिस्थितियों को समझने की पूरी कोशिश करती है कि उन्होंने किन परिस्थितियों में संघर्ष कर घर की ये चीज़ें बनाई है। इसलिए वह उस संघर्ष के प्रति सम्मान भाव रखते हुए उन्हें यूंही बेच देना नहीं चाहती।मालकिन की ये बात काबिल-ए-तारीफ है। हम कभी ये नहीं समझ पाते की हमारे बुजुर्गों ने कितनी कड़ी मेहनत से हमारे लिए ये सब अर्जित किया होगा पर हम समय के साथ चलते हुए उनका अनादर करते हुए उन्हें बेच देते हैं या फिर नष्ट कर देते हैं। उनकी भावनाओं का तनिक भी ध्यान नहीं रखते। हमें चाहिए कि हम अपनी पीढ़ियों से चली आ रही इन विरासतों का पूरे सम्मान व आदर भाव से ध्यान रखें व दूसरों को भी यही सीख दें।।

5.माटी वाली का रोटियों का इस तरह हिसाब लगाना उसकी किस मजबूरी को प्रकट करता है?

उत्तर:- माटीवाली का इस तरह रोटियों का हिसाब लगाना उसकी गरीबी को दर्शाता है। इससे हमें पता चलता है कि वह आर्थिक रूप से कितनी कमजोर थी और उसके लिए अपने व अपने पति के लिए दो वक्त की रोटी कमा पाना भी कितना मुश्किल था।सभी शहरवासी माटी वाली को इतना अच्छे से इसलिए जानते थे क्योंकि वह वहां के सभी घरों में बरसों से लाल माटी देती आई थी और वहां पर वह अकेली माटी वाली थी; उसका कोई प्रतिद्वंदी नहीं था और सभी शहरवासी उसके ग्राहक है। उसके बिना तो वहां के घरों में चूल्हा जलना भी मुश्किल हो जाता था। सभी लोग उसके बिना ढक्कन वाले कनस्तर से भी बहुत अच्छे से वाकिफ थे क्योंकि वह कनस्तर माटी वाली के साथ-साथ उनके जीवन का भी एक हिस्सा बन चुका था और वे उसे बहुत बार देख चुके थे।

इस पेज में आपको NCERT solutions for class 9 hindi Kritika दिया जा रहा है| Hindi Kritika सीबीएसई बोर्ड द्वारा class 9th के लिए निर्धारित किया गया है | इस पेज की खासियत ये है कि आप यहाँ पर ncert solutions for class 9 hindi Kritika pdf download भी कर सकते हैं| we expect that the given class 9 hindi Kritika solution will be immensely useful to you.

6. आज़ माटी वाली बुड्ढे को कोरी रोटीयां नहीं देगी इस कथन के आधार पर माटी वाली के हृदय के भाव को अपने शब्दों में लिखिए।

आज़ माटी वाली बुड्ढे को कोरी रोटीयां

उत्तर:- माटी वाली का उसके पति के अलावा अन्य कोई नहीं है। दूसरे उसका पति अत्याधिक वृद्ध होने के कारण बीमारियों से ग्रस्त है, उसका लीवर खराब होने के कारण उसका पाचनतंत्र भी भली-भाँति से काम नहीं करता है। इसलिए वह निर्णय लेती है कि वह बाज़ार से प्याज लेकर जायेगी व रोटी को रुखा देने के बजाए उसको प्याज की सब्जी बनाकर रोटी के साथ देगी इससे उसका असीम प्रेम झलकता है कि वह उसका इतना ध्यान रखती है कि उसे रुखी रोटियाँ नहीं देना चाहती।

7. ‘गरीब आदमी का शमशान नहीं उजड़ना चाहिए।’ इस कथन का आशय स्पष्ट कीजिए।

उत्तर:- इस कथन का आशय यह है कि गरीबों के रहने का आसरा नहीं छिनना चाहिए। माटीवाली जब एक दिन मजदूरी करके घर पहुँचती है तो उसके पति की मृत्यु हो चुकी होती है। अब उसके सामने विस्थापन से ज्यादा पति के अंतिम संस्कार की चिंता होती है, बाँध के कारण सारे श्मशान पानी में डूब चूके होते हैं। उसके लिए घर और श्मशान में कोई अंतर नहीं रह जाता है। इसी दुःख के आवेश में वह यह वाक्य कहती है।

8. ‘विस्थापन की समस्या’ पर एक अनुच्छेद लिखिए।

उत्तर- विस्थापन का अर्थ है किसी स्थान पर बसे हुए लोगों को कहीं से बलपूर्वक हटाना और वह जगह उनसे खाली करा लेना। आज विकास और प्रगति के नाम पर कई लोगों को अपनी जड़ों को छोड़कर जाना पड़ता है। उनके सामने रोजगार और घर की समस्या उत्पन्न हो जाती है। ऐसा नहीं है कि सरकार विस्थापितों को बसाने के लिए कोई कदम नहीं उठाती परन्तु ये सारी सुविधाएँ अपर्याप्त होती हैं।

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kritika Chapter 4 माटीवाली Download in PDF

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.